जनसंख्या : वितरण, घनत्व, समृद्धि और संगटन

जनसंख्या : वितरण, घनत्व, समृद्धि और संगटन

जनसंख्या : वितरण, घनत्व, समृद्धि और संगटन

जनसंख्या : वितरण, घनत्व, समृद्धि और संगटन

बहुविकल्पीय प्रश्न
प्रश्न 1. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या निम्नलिखित
( a ) 102.8 करोड़ ( b ) 328.7 करोड़
( c ) 318.2 करोड़ उत्तर ( d ) 121 करोड़

प्रश्न 2. निम्न में से किस राज्य की जनसंख्या सर्वाधिक है ?

( a ) महाराष्ट्र ( b) तमिलनाडु
( c ) बिहार उत्तर ( d ) पश्चिम बंगाल

प्रश्न 3. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत का जनसंख्या घनत्व कितना है ?
( a ) 381 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी ( b) 382 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
( c ) 383 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी ( d ) 384 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी

प्रश्न 4. निम्नलिखित राज्यों में से किस एक में जनसंख्या का घनत्व सर्वाधिक है ?
( a ) पश्चिम बंगाल ( b ) उत्तर प्रदेश
( c) केरल ( d ) पंजाब

प्रश्न 5. निम्नलिखित में से किस अवधि के दौरान जनसंख्या की वृद्धि दर ऋणात्मक रही ?
( a ) वर्ष 1911-21 ( b ) वर्ष 1921-31
( c ) वर्ष 1931-41 ( d ) वर्ष 1941-51

प्रश्न 6. निम्नलिखित में से कौन – सा एक समूह भारत में विशालतम भाषायी
( a ) चीनी – तिब्बती ( b ) ऑस्ट्रिक
( c ) भारतीय आर्य ( d ) द्रविड़

प्रश्न 7. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या का कितना प्रतिशत ईसाई समुदाय का है ? 

( a ) 1.9 % ( b ) 1.57 %
( c ) 2.3 % ( d ) 2.96 %

प्रश्न 8. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत की कितने प्रतिशत जनसंख्या गाँवों में निवास करती है ?
( a ) 72.8 % ( b ) 72.2 %
( c ) 69.8 % ( d ) 68.8 %

प्रश्न 9. वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार निम्नलिखित में से किस राज्य में नगरीय जनसंख्या का अनुपात सर्वाधिक है ?
( a ) तमिलनाडु ( b ) केरल
( c ) महाराष्ट्र ( d ) गुजरात उत्तर

प्रश्न 10. “ जो व्यक्ति वर्ष में 183 दिन या उससे अधिक दिन तक रोजगार पाता है ” यह उक्ति निम्न में से किस वर्ग को इंगित करती है ।
( a ) बेरोजगार ( b) अश्रमिक
( c) मुख्य श्रमिक ( d ) सीमान्त श्रमिक

Our Mobile App for Board Exam https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knowledgebeem.online

प्रश्न 11. निम्नतम जनसंख्या घनत्व पाया जाता है
( a ) उत्तराखंड में ( b) हिमाचल प्रदेश मे
( C ) मेघालय में ( d ) मिजोरम में

प्रश्न 1. भारत में पहली सम्पूर्ण जनगणना किस वर्ष सम्पन्न हुई थी ?
उत्तर – भारत में पहली सम्पूर्ण जनगणना 1881 ई . में तत्कालीन भारतीय वायसराय लॉर्ड रिपन के शासनकाल में सम्पन्न हुई थी ।

प्रश्न 2. जनसंख्या के आधार पर भारत का विश्व में कौन – सा स्थान है ?
उत्तर – जनसंख्या के आधार पर भारत का चीन के बाद विश्व में दूसरा स्थान है ।

प्रश्न 3. भारत के उस राज्य का नाम बताइए , जिसका क्षेत्रफल सर्वाधिक है ।
उत्तर – राजस्थान ( क्षेत्रफल -3,42,239 वर्ग किमी ) ।

प्रश्न 4. जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने वाले भौतिक कारक कौन – से हैं ?
उत्तर – भू – विन्यास , जलवायु , जल की उपलब्धता आदि जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने वाले भौतिक कारक हैं ।
प्रश्न 5. भारत के कौन – से क्षेत्र जनसंख्या संकेन्द्रण के दृष्टिकोण से अधिक विरल हैं ?
उत्तर – भारत के पर्वतीय क्षेत्रों ; जैसे – हिमालयी क्षेत्र तथा मरुस्थलीय प्रदेश में जनसंख्या बहुत ही कम एवं विरल अवस्था में पाई जाती है ।

Visit Our YouTube Channel – https://www.youtube.com/c/Knowledgebeem

प्रश्न 6. सर्वाधिक उच्च जनसंख्या घनत्व वाले चार राज्यों के नाम बताइए ।
उत्तर – सर्वाधिक उच्च जनसंख्या घनत्व वाले चार राज्य बिहार , पश्चिम बंगाल , केरल और उत्तर प्रदेश हैं ।

प्रश्न 7. भारत में निम्न जनसंख्या वृद्धि वाले दो राज्यों के नाम लिखिए ।
उत्तर – भारत के केरल व नागालैण्ड राज्य में जनसंख्या वृद्धि बहुत ही निम्न है ।

प्रश्न 8. जनगणना 2011 के दौरान भारत की दशकीय जनसंख्या वृद्धि दर क्या थी ?
उत्तर – जनगणना 2011 के दौरान भारत की दशकीय जनसंख्या वृद्धि दर 17.64 % थी । .

प्रश्न 9. भारत में जनसंख्या वृद्धि दर में कमी होने के क्या कारण हैं ?
उत्तर – जीवन की गुणवत्ता व स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार , विवाह की औसत आयु में वृद्धि , शिक्षा के स्तर में सुधार इत्यादि जनसंख्या वृद्धि दर में कमी होने के कारण हैं ।

प्रश्न 10. मृत्यु दर क्या है ?
उत्तर – किसी वर्ष विशेष में मरने वालों की कुल संख्या तथा उस वर्ष की कुल जनसंख्या का अनुपात मृत्यु दर कहलाती
है ।

Visit our website – https://www.knowledgebeem.com

प्रश्न 11. अभिप्रेरित जनसंख्या वृद्धि क्या है ?
उत्तर – किसी क्षेत्र में लोगों के आगमन एवं बाहर जाने का अन्तर ही अभिप्रेरित जनसंख्या वृद्धि कहलाता है ।

प्रश्न 12. निवल कृषि क्षेत्र क्या है ?
उत्तर – जिस भूमि पर कृषि की जाती है , वह निवल कृषि क्षेत्र कहलाता है ।

प्रश्न 13. भारत में द्रविड़ भाषा परिवार की भाषाएँ किस क्षेत्र में बोली जाती हैं ?
उत्तर – तमिलनाडु , केरल , कर्नाटक एवं आन्ध्र प्रदेश में द्रविड़ भाषा परिवार की भाषाएँ बोली जाती हैं ।

प्रश्न 14. उत्तर – पूर्वी राज्यों में किस भाषा परिवार के लोग रहते हैं ?
उत्तर – उत्तर – पूर्वी राज्यों में चीनी – तिब्बती भाषा परिवार के लोग रहते हैं ।

प्रश्न 15. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में बौद्ध और जैन समुदाय की जनसंख्या का प्रतिशत क्या है ?
उत्तर – वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार बौद्ध और जैन समुदाय की जनसंख्या का भारत में प्रतिशत क्रमशः 0.7 और 0.4 है ।

हिंदी पद्य से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

प्रश्न 16. भारत के किन राज्यों में विशाल ग्रामीण जनसंख्या है ? इतनी विशाल ग्रामीण जनसंख्या के लिए एक उत्तरदायी कारण को लिखिए ।
उत्तर – वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार , देश की कुल जनसंख्या का 68.8 % भाग गाँवों में निवास करता है । बिहार और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में ग्रामीण जनसंख्या का प्रतिशत बहुत अधिक है । देश में अधिक ग्रामीण जनसंख्या का एक कारण यह है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब भी काफी हद तक कृषि पर आधारित है ।

प्रश्न 17. ” कृषि सेक्टर में भारतीय श्रमिकों का सर्वाधिक अंश संलग्न है । ” स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – भारत की सर्वाधिक जनसंख्या गाँवों में निवास करती है । गाँवों के सर्वाधिक श्रमिक कृषि क्षेत्र ( सेक्टर ) में लगे है । द्वितीयक और तृतीयक क्षेत्रों की तुलना में प्राथमिक क्षेत्र अर्थात् कृषि क्षेत्र में श्रमिकों का सर्वाधिक अंश संलग्न है । वर्ष 2011 के अनुसार भारत में कृषि सेक्टर में श्रमिकों का 54.6 % भाग संलग्न पाया जाता है ।

प्रश्न 18. भारत के कुछ राज्यों में अन्य राज्यों की अपेक्षा श्रम सहभागिता ऊँची क्यों है ?
उत्तर – भारत जैसे देश के सन्दर्भ में ऐसा समझा जाता है कि आर्थिक विकास के निम्न स्तरों वाले क्षेत्रों में श्रम की सहभागिता दर ऊँची है , क्योंकि निर्वाह अथवा निर्वाह की आर्थिक क्रियाओं के निष्पादन के लिए अनेक कामगारों की आवश्यकता पड़ती है ।
प्रश्न 19. भारत में न्यूनतम जनसंख्या वाले प्रदेश का नाम लिखिए ।
उत्तर – भारत में न्यूनतम जनसंख्या वाला प्रदेश सिक्किम है ।

लघु उत्तरीय प्रश्न
प्रश्न 1. वर्ष 1921-51 के बीच की समयावधि को भारत की जनसंख्या की स्थिर वृद्धि के रूप में जाना जाता है । इसके क्या कारण हैं ?
अथवा भारत की जनसंख्या वृद्धि वर्ष 1921-51 के मध्य स्थिर क्यों रही ? कोई तीन कारण स्पष्ट करें ।
उत्तर – वर्ष 1921-51 की समयावधि को जनसंख्या की स्थिर वृद्धि का काल माना जाता है । इसके निम्नलिखित कारण हैं –
• इस समयावधि में स्वास्थ्य सेवाओं में व्यापक सुधार हुए , जिससे मृत्यु – दर में कमी आई ।
•शिक्षा के स्तर में वृद्धि का भी जनसंख्या वृद्धि दर को नियन्त्रित करने में योगदान रहा ।
• परिवहन एवं संचार साधनों के विकास ने खाद्यान्नों के वितरण को सुगम बना दिया है ।

प्रश्न 2. “भारत के अत्यन्त उष्ण एवं शुष्क तथा अत्यन्त शीत एवं आर्द्र प्रदेशों में जनसंख्या का घनत्व निम्न है ।” इस कथन के दृष्टिकोण से जनसंख्या वितरण में जलवायु की भूमिका स्पष्ट कीजिए ।
उत्तर – जनसंख्या के वितरण में जलवायु के घटक – तापमान , वर्षा , अति शीत एवं आर्द्रता आदि की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है । ये मानव निवास के लिए प्रतिकूल परिस्थितियाँ पैदा करते हैं , इसलिए भारत के राजस्थान के थार क्षेत्र में अत्यन्त उष्ण एवं शुष्क , जम्मू – कश्मीर के लेह – लद्दाख क्षेत्र में अत्यन्त शीत तथा मेघालय एवं अण्डमान – निकोबार द्वीप समूह में अत्यन्त आर्द्रता के कारण निम्न जनसंख्या घनत्व पाया जाता है ।

प्रश्न 3. भारत सरकार द्वारा वर्ष 2014 की युवा नीति में युवाओं के लिए क्या प्रावधान किए गए हैं ?
उत्तर – युवाओं के चहुमुखी विकास के लिए भारत सरकार द्वारा वर्ष 2014 में युवा नीति बनाई गई , जो युवाओं को निम्न प्रकार से सहायता प्रदान करती है –
•निर्णय लेने में युवाओं की सहभागिता सुनिश्चित करना ।

•सुयोग्य उत्तरदायित्व के निर्वहन को सशक्त करना ।

•महिलाओं / लड़कियों का सशक्तीकरण ।
•पुरुषों व महिलाओं में समानता लाने के कार्य ।
• युवाओं के स्वास्थ्य , क्रीड़ा व प्रमाद का विशेष ध्यान ।

•विज्ञान प्रौद्योगिकी के साथ – साथ रचनात्मक कार्यों में आए नवप्रवर्तन के प्रति जागरूकता । सरकार द्वारा उपरोक्त कदम इसलिए उठाने की कोशिश की गई है , ताकि जनसंख्या वृद्धि से समाज में फैली समस्याओ से युवाओं को बचाया जा सके ।

प्रश्न 4. धर्म और भू – दृश्यों के मध्य के सम्बन्धों की व्याख्या कीजिए ।
उत्तर – विभिन्न धर्मों की अभिव्यक्ति , पवित्र संरचनाओं , कब्रिस्तान का उपयोग , पौधों और प्राणियों के समुच्चय तथा धार्मिक उद्देश्य के लिए वृक्षों के समुच्चयों के माध्यम से विभिन्न भू – दृश्य प्रदर्शित होते हैं । किसी भी क्षेत्र के सम्पूर्ण भू – दृश्य , मन्दिरों , मस्जिदों , गुरुद्वारों , मठों और गिरिजाघरों के आकार – प्रकार , स्थान , प्रयोग और संख्या में भिन्नता पाई जाती है ।

प्रश्न 5. भारत के उत्तरी विशाल मैदान में घनी जनसंख्या हेतु उत्तरदायी किन्हीं दो प्रमुख कारकों की विवेचना कीजिए । उत्तर – भारत के उत्तरी विशाल मैदानों में घनी जनसंख्या पाई जाने के दो प्रमुख कारक निम्नलिखित हैं –
1. उपजाऊ जलोढ़ मृदा की उपस्थिति उत्तरी विशाल मैदानों में जलोढ़ मृदा के कारण कृषि कार्य की गहनता / सघनता अत्यधिक पाई जाती है । अत : कृषि हेतु आवश्यक आदर्श दशाओं की उपस्थिति जनसंख्या को विशाल उत्तरी मैदानों में बसने को प्रेरित करती है ।
2. जलवायु जलवायु किसी भी क्षेत्र में मानव बसाव को प्रभावित करने वाला महत्त्वपूर्ण कारक है । भारत के उत्तरी मैदानों की जलवायु उष्णाई एवं शीतोष्ण है , जो सघन जनसंख्या को अपनी ओर आकर्षित करती है । इसके अतिरिक्त सदावाही नदियों की उपस्थिति इस मैदान में जल की पर्याप्तता बनाए रखती है ।

प्रश्न 6. पश्चिम बंगाल में अधिक जनंसख्या घनत्व के कारण बताइए ।
उत्तर – पश्चिम बंगाल में , बिहार के बाद भारत का सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व पाया जाता है । इस सघन जनसंख्या घनत्व के कारण निम्नलिखित हैं
• उच्च वर्षा एवं समतल उपजाऊ भूमि ।
• चावल उत्पादक क्षेत्र के कारण औपनिवेशिक काल से ही औद्योगीकरण का प्रारम्भ ।
• पड़ोसी राज्यों ; जैसे – त्रिपुरा , बिहार , झारखण्ड , ओडिशा आदि से रोजगार व शिक्षा हेतु होने वाला प्रवास ।
• कम क्षेत्रफल ।
•कोलकाता व अन्य नगरीय क्षेत्रों का आकर्षण ।

मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
प्रश्न 1. भारत में जनसंख्या के घनत्व के स्थानिक वितरण की विवेचना कीजिए ।
अथवा जनसंख्या घनत्व के प्रमुख प्रकारों का वर्णन कीजिए ।
उत्तर – देश के राज्यों में जनसंख्या घनत्व में असमानता पाई जाती है , जिसे निम्नलिखित वर्गों में रखते हैं ।
1. उच्च जनसंख्या घनत्व इसमें नगरीय , क्षेत्र , मैदानी राज्य एवं तटीय राज्यों को शामिल करते हैं । इसके अतिरिक्त अण्डमान – निकोबार द्वीप समूह को छोड़कर सभी केन्द्रशासित प्रदेशों में भी उच्च जनसंख्या घनत्व पाया जाता है । वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार , राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में 11,297 , बिहार में 1102 , पश्चिम बंगाल में 1029 , केरल में 859 , उत्तर प्रदेश में 829 तथा तमिलनाडु में 555 व्यक्ति प्रतिवर्ग किमी जनसंख्या घनत्व निर्धारित किया गया है ।
2. मध्यम जनसंख्या घनत्व असम , गुजरात , आन्ध्र प्रदेश , हरियाणा , झारखण्ड एवं ओडिशा में मध्यम जनसंख्या घनत्व पाया जाता है । 3. निम्न जनसंख्या घनत्व हिमालय प्रदेश के पर्वतीय राज्यों उत्तर – पूर्वी राज्यों एवं अण्डमान – निकोबार द्वीप समूह में निम्न जनसंख्या घनत्व पाया जाता है । वर्ष 2001 में अरुणाचल प्रदेश में जनसंख्या घनत्व 13 व्यक्ति प्रतिवर्ग किमी था , जबकि वर्ष 2011 में बढ़कर 17 व्यक्ति प्रतिवर्ग किमी हो गया है । जनसंख्या घनत्व को मापने का एक उचित माध्यम कृषित भूमि . पर जनसंख्या घनत्व का मापन है । इसे दो प्रकार से विभक्त किया जा सकता है .
कायिक घनत्व = कुल जनसंख्या + निवल कृषि क्षेत्र
कृषीय घनत्व = कुल कृषक जनसंख्या + निवल कृषि क्षेत्र कृषि जनसंख्या में कृषक , कृषि मजदूर और उसके परिवार के सदस्य शामिल होते हैं ।

प्रश्न 2. जनसंख्या वृद्धि क्या है ? भारत में जनसंख्या वृद्धि की तीसरी प्रावस्था का वर्णन कीजिए ।
उत्तर – जनसंख्या वृद्धि दो समय बिन्दुओं के बीच किसी क्षेत्र विशेष में रहने वाले लोगों की संख्या में परिवर्तन को कहते हैं । इसकी दर को प्रतिशत में व्यक्त किया जाता है । जनसंख्या वृद्धि प्राकृतिक तथा अभिप्रेरित दो घटकों से प्रभावित होती है । जनसंख्या वृद्धि वहाँ अवांछनीय स्थिति को प्रदर्शित करती है जहाँ जनसंख्या उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों से कई गुना अधिक बढ़ गई है । आज दुनिया में लगभग 7 अरब से अधिक लोग निवास करते है , उनमें चीन सबसे धिक जनसंख्या वृद्धि वाला देश है , उसके बाद भारत का नाम आता है । जनसंख्या वृद्धि दुनिया में अविकसित , गरीब और विकासशील देशों की अर्थव्यवस्था में बाधा बनती है । चीन के बाद भारत दुनिया में दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है । भारत जिन समस्याओं का सामना कर रहा है , उनमें से जनसंख्या वृद्धि सबसे गम्भीर समस्या है , क्योंकि भारत की आबादी वर्ष 2011 के अनुसार 121.0 करोड़ है ।
जनसंख्या वृद्धि द्वारा उत्पन्न समस्याएँ ; जैसे – खाद्य और पोषण , आवास , भुखमरी और अकाल , संक्रमक रोग एवं महामारी , जनसंख्या का बढ़ता दबाव , कृषि क्षेत्रों में कमी और वन विनाश आदि हैं , जो जनसंख्या में तीव्र वृद्धि , आधुनिक दुनिया की गरीबी , निरक्षरता , बेरोजगारी , आर्थिक पिछड़ापन को बढ़ावा देती है ।

भारत में जनसंख्या वृद्धि की तृतीय प्रावस्था
• इस प्रावस्था की अवधि 1951-81 के मध्य की है ।
• इस अवधि में भारतीय जनसंख्या में तीव्र गति से वृद्धि हुई । इसे जनसंख्या विस्फोट के रूप में जाना जाता है ।
• इस अवधि में जनसंख्या विस्फोट का कारण मृत्यु – दर में तीव्र ह्रास तथा उच्च प्रजनन दर थी । इस दौर में स्वतन्त्रता के बाद उच्च विकास के लिए केन्द्रीकृत नियोजन प्रक्रिया शुरू की गई , जिससे अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ तथा लोगों के जीवन स्तर में भी सुधार हुआ ।

Tense

प्रश्न 3. भारत के ग्रामीण जनसंख्या वितरण का वर्णन कीजिए ।
उत्तर – गाँवों में निवास करने वाली जनसंख्या ग्रामीण जनसंख्या ( Rural Population ) कहलाती है । वर्ष 2001 की जगनणना के अनुसार , देश की कुल जनसंख्या का 72.2 % भाग गाँवों में निवास करता था , परन्तु वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार , कुल जनसंख्या का 68.8 % भाग । गाँवों में निवास करता है ।
सम्पूर्ण देश में ग्रामीण जनसंख्या का वितरण असमान है । उदाहरण के लिए , बिहार और सिक्किम में ग्रामीण जनसंख्या का प्रतिशत बहुत अधिक है , जबकि गोवा और महाराष्ट्र की कुल जनसंख्या का आधे से कुछ अधिक भाग ही गाँवों में बसता है । भारत में गाँवों के आकार में भी असमानता पाई जाती है । उत्तर – पूर्वी भारत में पहाड़ी राज्यों , पश्चिमी राजस्थान और कच्छ का रण के गाँवों की जनसंख्या 200 व्यक्तियों से कम , जबकि केरल तथा महाराष्ट्र के गाँवों की जनसंख्या 17,000 व्यक्तियों तक पाई जाती है ।
दरार एवं नगर हवेली में कुल जनसंख्या का 53.38% भाग गांव में निवास करता है जबकि अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में ग्रामीण जनसंख्या नगरिय जनसंख्या से कम है वर्ष 2001 के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या का 27.8% भाग नगरीय जनसंख्या का था वहीं वर्ष 2011 के अनुसार कुल जनसंख्या का 31.1% भाग नगरों में निवास करता है

प्रश्न 4. भारत की जनसंख्या के व्यावसायिक संघटन का विवरण दीजिए ।
उत्तर – भारत में द्वितीयक एवं तृतीयक क्षेत्र की अपेक्षा प्राथमिक क्षेत्र में अधिक श्रमिक कार्यरत् हैं । देश की कुल श्रमजीवी जनसंख्या का लगभग 54.6 % कृषक और कृषि श्रमिक , 3.8 % घरेलू उद्योग श्रमिक व 41.6 % गैर – घरेलू उद्योग , व्यापार , वाणिज्य , विनिर्माण , मरम्मत तथा अन्य सेवाओं के श्रमिक है । देश में महिला श्रमिकों की संख्या द्वितीयक और तृतीयक क्षेत्रों की तुलना में प्राथमिक क्षेत्र में अधिक है , लेकिन कुल श्रमिकों की संख्या में तीनों क्षेत्रों – प्राथमिक , द्वितीयक एवं तृतीयक में पुरुष श्रमिकों की संख्या अधिक है । पिछले कुछ वर्षों से द्वितीयक एवं तृतीयक क्षेत्रों में महिला श्रमिकों की भागीदारी बढ़ रही है । भारत में कृषि क्षेत्र में कुल श्रमिकों की भागीदारी कम हो रही है ।
उदाहरणस्वरूप , वर्ष 1991 में कृषि क्षेत्र में 66.85 % श्रमिक कार्यरत् थे , जो वर्ष 2001 में घटकर 58.2 % हो गए थे तथा 2011 में 54.6 % हो गए थे । भारत के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत् श्रमिकों में स्थानिक भिन्नता मिलती है । उदाहरणस्वरूप , आन्ध्र प्रदेश , छत्तीसगढ़ , ओडिशा , झारखण्ड , पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश में कृषि श्रमिकों की संख्या अधिक है , जबकि दिल्ली , चण्डीगढ़ और पुदुचेरी में कृषि श्रमिकों की संख्या बहुत कम है , किन्तु श्रमिकों का बड़ा भाग नगरीकृत क्षेत्रों में अन्य सेवाओं में लगा है ।

Visit our YouTube Channel – https://www.youtube.com/c/Knowledgebeemplus

Visit our website for more post – https://www.knowledgebeemplus.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.