UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

अनुक्रमांक ……….. 
नाम ……….
270 290(VK)
2021
हिंदी मॉडल पेपर
कक्षा – 10
समय : 3 घंटे 15 मिनट पूर्णांक : 70
नोट : प्रारंभ के 15 मिनट विद्यार्थियों को प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए निर्धारित है।


1. (क) निम्नलिखित कथनों में से एक कथन सही है, उसे पहचान कर लिखिए – 1
(i) ‘गोदान’ प्रेमचंद का प्रसिद्ध कहानी–संग्रह है।
(ii) मुंशी प्रेमचंद्र एक कवि के रूप में प्रसिद्ध है।
(iii) ‘गुनाहों का देवता’ धर्मवीर भारती का उपन्यास है।
(iv) ‘हिमालय की पुकार’ भगवतशरण उपाध्याय की रचना है।

ख. निम्नलिखित कृतियों में से किसी एक के लेखक का नाम लिखिए – 1
(क) आवारा मसीहा (ख) दीपदान
(ग) मेरी कॉलेज डायरी (घ) चिंतामणि

2. क. ‌‌ शुक्ल-युग की समय सीमा बताइए। 1
ख . ‘रानी केतकी की कहानी’ और ‘कलम का सिपाही’ के लेखक का नाम लिखिए। 1
ग. किसी एक प्रसिद्ध उपन्यास-लेखक का नाम लिखिए। 1

3. ‌निम्नलिखित गद्यांशों में से किसी एक के नीचे दिए गए प्रश्नों का उत्तर दीजिए— 2+2+2=6
(क) विश्वासपात्र मित्र जीवन की एक औषध है। हमें अपने मित्र से यह आशा करनी चाहिए कि उत्तम संकल्पों से हमें दृण करेंगे, दोषों और त्रुटियों से हमें बचाएंगे, हमारे सत्य, पवित्रता और मर्यादा के प्रेम को पुष्टि करेंगे, जब हम कुमार्ग पर पैर रखेंगे, तब वे हमें सचेत करेंगे, जब हम हतोत्साहित होंगे, तब वह हमें उत्साहित करेंगे। सारांश यह है कि वह हमें उत्तमतापूर्वक जीवन निर्वाह करने में हर तरह से सहायता देंगे। सच्ची मित्रता में उत्तम से उत्तम वैध की-सी निपुणता और परख होती है,‌ अच्छी से अच्छी माता का-सा धैर्य और कोमलता होती है। ऐसे ही मित्रता करने का प्रयत्न प्रत्येक पुरुष को करना चाहिए।

(¡) उपयुक्त गद्यांश का संदर्भ लिखिए।
(¡¡) रेखांकित अंशों की व्याख्या कीजिए।
(¡¡¡) व्यक्ति को अपने मित्र से कैसे उम्मीद रखनी चाहिए?

(ख) ‌‌आज हम इस निर्मल, शुद्ध शीतल और स्वस्थ्य अमृत की तलाश में है और हमारी इच्छा, अभिलाषा और प्रयत्न किया है कि वह इन सभी अलग-अलग बहती हुई नदियों में अभी भी उसी तरह बहता रहे और इनको वह अमर तत्व देता रहे, जो जमाने के हजारों थपेड़ो को बरदाश्त करता हुआ भी आज हमारे अस्तित्व को कायम रखे हुए हैं और रखेगा।
‌(¡) उपयुक्त गद्यांश का संदर्भ लिखिए।
(¡¡) रेखांकित अंश की व्याख्या कीजिए।
(¡¡¡) लेखक ने प्रस्तुत गद्यांश में किस अमर तत्व की ओर संकेत किया है?

4‌.  निम्नलिखित पद्यांशों में किसी एक पद्यांश की संदर्भ-सहित व्याख्या कीजिए— 1+4+1=6

(क) दुसज दुराज प्रजानु कौं, क्यों न बढ़ै दुख-दंदु।
अधिक अंधेरौ जग करत, मिलि मावस रवि-चंदु।।
बसै बुराई जासु तन, ताही कौ सनमानु।
भलौ-भलौ कहि छोड़ियै, खोटैं ग्रह जपु-दानु।।

(ख) ऐसा रण, राणा करता था,
पर उसको था संतोष नहीं।
क्षण-क्षण आगे बढ़ता था वह,
पर कम होता था रोष नहीं।।
कहता था लड़ता मान कहां,
मैं कर लूं रक्त-स्नान कहां?
जिस पर तय विजय हमारी है,
वह मुगलों का अभिमान कहां?

Visit Our YouTube Channel for Board Exam Preparation – https://www.youtube.com/c/Knowledgebeem

5. (क) निम्नलिखित लेखकों में से किसी एक लेखक का जीवन परिचय दीजिए तथा उनकी किसी एक रचना का उल्लेख कीजिए— 2+1=3
(¡) आचार्य रामचंद्र शुक्ल
(¡¡) डॉ० राजेंद्र प्रसाद
‌‌(¡¡¡) जयशंकर प्रसाद

(ख) निम्नलिखित कवियों में से किसी एक कवि का जीवन परिचय दीजिए तथा उनकी एक रचना का नाम लिखिए— 2+1=3
(¡) सूरदास
(¡¡) महादेवी वर्मा
(¡¡¡) सुमित्रानंदन पंत

6. निम्नलिखित का ससन्दर्भ हिंदी में अनुवाद लिखिए : 1+3=4

इयं नगरी विविधर्माणां संगमस्थली। महात्मा बुद्ध:, तीर्थंकर:, पार्श्वनाथ:, शंकराचार्य:, कबीर:, गोस्वामी तुलसीदास: अन्ये च बहव: महात्मान: ‌अत्रागत्या स्वीयान् विचारन् प्रासारयन् । न केवलं दर्शने, साहित्ये, धार्मिक अपितु कलाक्षेत्रेअपि इयं नगरी विविधानां कलानां, शिल्पानाञ्च कृते लोके विश्रुता। अत्रत्या: कौशेयशाटिका: देशे देशे सर्वत्रस्पृह्यन्ते। प्रस्तमूर्तय: प्रथिता: इयं निजां प्राचीनपरम्पराम् इदानीमपि परिपालयति।
अथवा
सर्वे भवंतू सुखिन:, ‌‌सर्वे सन्तु निरामया: ।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु , मा कश्चिद् दु:खभाग् भवेत् ।।

7. (क) अपनी पाठ्य–पुस्तक से कण्ठस्थ किया हुआ कोई एक श्लोक लिखिए जो इस प्रश्न–पत्र में न आया हो। ‌‌ 2

(ख) निम्नलिखित में से किन्ही दो प्रश्नों के उत्तर संस्कृत में लिखिए— 2
(¡) पूरुराज: क: आसीत्?
(¡¡) भूमे: गुरुतरं किम अस्ति ?
(¡¡¡)‌ भारतीय: संस्कृते: मूलं किमस्ति ?
(¡v) वीर: केन पूज्यते ?

8. (क) ‘हास्य’ अथवा ‘करुण’ रस की परिभाषा एवं उदाहरण लिखिए। 2
(ख) ‘उपमा’ अथवा ‘उत्प्रेक्षा’ अलंकार का परिभाषा तथा उदाहरण लिखिए। 2
(ग) ‘रोला’ अथवा ‘सोरठा’ छंद का लक्षण तथा उदाहरण लिखिए। 2

9. (क) निम्नलिखित उपसर्गों में से किन्ही तीन के मेल से एक एक शब्द बनाइए— 1+1+1=3
(¡) अनु (¡¡) अभि ‌ (¡¡¡) ख
(¡v) परि (v) अप (v¡) निर्

(ख) निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्ही दो प्रत्ययों का प्रयोग करके एक–एक ‌‌शब्द बनाइए— 1+1=2
(¡) आहट ‌(¡¡) वट (¡¡¡) त्व (¡v) पन

(ग) निम्नलिखित में से किन्हीं दो का समास–विग्रह कीजिए तथा समास का नाम लिखिए — ‌‌ ‌ 1+1=2
(¡) ‌हानि–लाभ (¡¡) ‌पिता–पुत्र
(¡¡¡) चौराहा ‌‌ (¡v) त्रिफला

(घ) निम्नलिखित में से किन्हीं दो शब्दों के तत्सम रूप लिखिए : ‌‌ 2
(¡) ‌‌ आग (¡¡) अमावस (¡¡¡) ‌ कपूर (¡v) नेह
(ड़.) निम्नलिखित में से किन्हीं दो शब्दों के दो–दो पर्यायवाची शब्द लिखिए : 2
(¡) ‌‌ कमल (¡¡) अग्नि (¡¡¡) फूल (¡v) बादल

10. (क) ‌ निम्नलिखित में से किन्हीं दो के संधि–विच्छेद कीजिए और संधि का नाम लिखिए— 1+1=2
(¡) अत्यन्त: (¡¡) प्रत्युत्तरम् (¡¡¡) स्वागतम् (¡v) पित्रादेश:

(ख) ‌ निम्नलिखित शब्दों के षष्ठी विभक्ति, एकवचन में लिखिए : ‌ 1+1+=2
(¡) ‌ मति अथवा फल
(¡¡) मधु अथवा नदी

(ग) निम्नलिखित में से किसी एक की धातु , लकार, पुरुष तथा वचन का उल्लेखं कीजिए : 2
(¡) पठेताम् (¡¡) हसिष्यामि (¡¡¡) पठतु (¡v) हसेयम्

(घ) निम्नलिखित वाक्यों में से किन्हीं दो का संस्कृत में अनुवाद कीजिए: 2

(¡) प्रयाग में गंगा–यमुना का संगम है।
‌ (¡¡) वृक्ष से फल गिरते हैं।
(¡¡¡) वाराणसी गंगा के किनारे स्थित है।
(¡v) शिष्य ने गुरु से प्रश्न किया।

11. निम्नलिखित में से किसी एक विषय पर निबन्ध लिखिए— 6
(¡) जनसंख्या–वृद्धि की समस्या।
(¡¡) पर्यावरण की समस्या और समाधान।
(¡¡¡) भ्रष्टाचार : कारण और निवारण।
(¡v) भारत में बेरोजगारी की समस्या।

12. निम्नलिखित प्रश्नों में से स्वपठित खंडकाव्य के आधार पर किसी एक खण्ड के प्रश्नो के उत्तर दीजिए : ‌‌ 3
(क) (¡) ‘जय सुभाष’ खंडकाव्य के प्रमुख पात्र की चारित्रिक विशेषताएं लिखिए ।
(¡¡) ‘जय सुभाष’ खंडकाव्य के प्रमुख सप्तम सर्ग की कथा अपने शब्दों में लिखिए।

(ख) (¡) ‘तुमुल’ खंडकाव्य के तृतीय सर्ग का कथानक लिखिए।
(¡¡) ‘तुमुल’ खंडकाव्य के आधार पर ‘मेघनाद–प्रतिज्ञा’ का वर्णन कीजिए।

(ग) (¡) ‘कर्मवीर भरत’ खंडकाव्य के आधार पर कैकेयी का चरित्र–चित्रण कीजिए।
(¡¡) ‘कर्मवीर भरत’ खंडकाव्य की कथा संक्षेप में प्रस्तुत कीजिए।

(घ) (¡) ‘मातृ–भूमि के लिए’ खंडकाव्य के नायक चंद्रशेखर आजाद का चरित्र– चित्रण कीजिए।
(¡¡) ‘मातृ–भूमि के लिए’ खंडकाव्य की कथावस्तु संक्षेप में लिखिए।

(ड़.) (¡) ‘मेवाड़–मुकुट’ खंडकाव्य की कथावस्तु संक्षेप में लिखिए।
(¡¡) ‘मेवाड़–मुकुट’ के आधार पर महाराणा प्रताप का चित्रांकन कीजिए।

(च) (¡) ‘अग्रपूजा’ खंडकाव्य की प्रमुख घटना का वर्णन कीजिए।
(¡¡) ‘अग्रपूजा’ की कथावस्तु संक्षेप में लिखिए।

(छ) (¡) ‘मुक्ति–दूत’ खंडकाव्य के द्वितीय सर्ग का सारांश लिखिए।
(¡¡) ‘मुक्ति–दूत’ के आधार पर गांधी जी द्वारा संचालित प्रमुख मुक्ति
आंदोलन का विवरण लिखिए।

(ज) (¡) ‘ ज्योति–जवाहर’ खण्डकाव्य की कथावस्तु संक्षेप में लिखिए।
(¡¡) ‘ज्योति–जवाहर’ खंडकाव्य के आधार पर ‘कलिंग युद्ध’ का वर्णन कीजिए।

(झ) (¡) ‘कर्ण’ खंडकाव्य के द्वितीय सर्ग की कथा अपने शब्दों में लिखिए।
(¡¡) ‌ ‘कर्ण’ खंडकाव्य के किसी एक प्रमुख पात्र का चरित्रांकन कीजिए।

Our Mobile App for Board Exam Preparation – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knowledgebeem.online
For more post visit our website – https://www.knowledgebeemplus.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.